Wednesday, 5 September 2018

पृथ्वी सम्मेलन EARTH SUMMIT

पृथ्वी सम्मेलन(EARTH SUMMIT)

जलवायु परिवर्तन के करना पृथ्वी पर विभिन्न प्रकार के संकट उत्पन्न हो रहे है । वर्ष 1992 में हमारी धरती पर मड़रा रहे संकट से लिए साझी रणनीति बनाने के मकसद से दुनिया भर के नेताओ ने ब्राज़ील के शहर रियो-डी-जेनेरियो में पृथ्वी सम्मेलन के लिए इकट्ठा हुए थे। इस सम्मेलन में जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिग जैसी समस्याओ को लेकर गहरी चिंता जताई गयी थी। और इससे लड़ने के लिए मिलकर प्रयास करने का संकल्प लिया गया था 
                               100 से अधिक देशो के प्रतिनिधियों ने सयुंक्त राष्ट्र द्वारा पर्यावरण और विकास के मुद्दों पर आयोजित इस वैश्विक सम्मेलन में भाग लिया था इसी सम्मेलन के दौरान 21 वी शताब्दी में सतत विकास की प्रप्ति के लिए 300 पृष्ठो की कार्य योजना भी अपनाई गयी थी। जिसे एजेंडा 21 कहा गया था पृथ्वी सम्मेलन के दौरान हुए समझौतों के क्रियान्वयन की निगरानी एवं रिपोर्ट के लिए सतत विकास आयोग का गठन किया गया था इस बात पर सहमति हुई कि पृथ्वी शिखर सम्मेलन के 5 वर्ष के बाद 1997 में सयुंक्त राष्ट्र महासभा के विशेष सत्र के दौरान इसकी समीक्षा की जाएगी   
EARTH SUMMIT
पर्यावण और विकास संबधी सम्मेलन के अंतर्गत निम्नलिखित कार्य योजनाओ एवं घोषणा पत्रों पर भी सहमति बानी थी
  • पर्यावण एवं विकास संबधी रियो घोषणा पत्र 
  • एजेंडा 21 सतत विकास हेतु वैश्विक कार्य योजनाओ
  • वनो के टिकाऊ प्रबंधन के लिए वक्तव्य सिद्धांत 
एजेंडा 21ब्राज़ील की राजधानी रियो-डी-जेनेरियो में वर्ष 1992 में पर्यावरण और विकास सम्मेलन आयोजित किया गया। इसे अर्थ समिट या पृथ्वी शिखर सम्मेलन जाता है। यह सम्मेलन स्टॉकहोम सम्मेलन (1975 ) की 20 वी वर्षगाठ मानाने के लिए आयोजित किया गया था। इसमें सम्मलित देशो ने धारणीय विकास के लिए एक सयुंक्त कार्य योजना प्रस्तुत की जिसे एजेंडा 21 के नाम से जाना जाता है। एजेंडा 21 को निम्नलिखित भागो में बाटा गया है 
  • जैविक विविधता का सर्वेक्षण और संकटग्रस्त जीवो का संरक्षण 
  • विकासशील देशो में गरीबी निवारण व् जनसँख्या नियंतरण 
  • पूँजी स्थान्तरण को उदार बनाने पर बल 
  • सबको खाद्य, स्वच्छ जल व् सामाजिक सुरक्षा  
NOTE: एजेंडा 21 धारणीय विकास के लिए एक सयुंक्त वैश्विक कार्य योजना है यह योजना परिस्तितिकी विनाश तथा आर्थिक असमानता को समाप्त करने पर बल देता है

रियो +10 सम्मेलन (2000): इसे पृथ्वी सम्मेलन 2002 के नाम से भी जाना जाता है इसे सतत विकास पर विश्व सम्मेलन का नाम भी दिया गया है। यह सम्मेलन दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग शहर में आयोजित किया गया था
                                               इस सम्मेलन में एजेंडा 21 के पूर्ण क्रियावन्यन के लक्ष्य को फिर से दोहराया गया। साथ ही सहस्राब्दि विकास लक्ष्य और कुछ अन्य अंत-राष्ट्रीय समझौतों को लागू करने का लक्ष्य रखा गया
Disqus Comments